Top Stories - Google News Samachar

Showing posts with label Warns. Show all posts
Showing posts with label Warns. Show all posts

Wednesday, 26 July 2017

चीन की भारत को धमकी- पहाड़ हिलाना आसान है, हमारी सेना को हटाना नहीं

बीजिंग.सिक्किम के डोकलाम एरिया को लेकर जारी विवाद के बीच चीन ने भारत को एक बार फिर चेतावनी दी है। चीन की डिफेंस मिनिस्ट्री के स्पोक्सपर्सन और डिप्टी डायरेक्टर जनरल ऑफ इन्फॉर्मेशन ऑफिस कर्नल वू कियान ने सोमवार को कहा, "चीन डोकलाम में अपनी सेना बढ़ाएगा, हम हर कीमत में अपने क्षेत्र की रक्षा करेंगे।" कियान ने यह भी कहा, "देश की रक्षा करने को लेकर हमारे विश्वास को कोई भी डिगा नहीं सकता, पहाड़ को हिलाना आसान है, लेकिन चीन की सेना को हटा पाना मुश्किल।

क्या है डोकलाम विवाद?
- ये विवाद 16 जून को तब शुरू हुआ था, जब इंडियन ट्रूप्स ने डोकलाम में चीन के सैनिकों को सड़क बनाने से रोक दिया था। हालांकि चीन का कहना है कि वह अपने इलाके में सड़क बना रहा है। भारत ने 16 जुलाई को सख्त रुख अपनाते हुए कहा था कि वह इस इलाके में पीछे नहीं हट सकता। डोकलाम में चीन को सड़क बनाने नहीं दिया जाएगा। भारत ने चीन की इस वॉर्निंग को नजरअंदाज कर दिया है कि भारत अपने सैनिक वहां से तुरंत वापस बुला ले, नहीं तो स्थिति और बिगड़ सकती है। 
- इंडियन डिफेंस मिनिस्ट्री की तरफ से कहा गया है कि जब तक चीन के सैनिक सड़क निर्माण से पीछे नहीं हटते, भारतीय सैनिक नॉन काम्बैट मोड में डोकलाम में डटे रहेंगे। उधर, चीनी मीडिया ने कहा है कि भारत के साथ बातचीत की पूर्व शर्त भारतीय सैनिकों का डोकलाम से पीछे हटना है। इस मामले में मोलभाव के लिए कोई जगह नहीं है।

बॉर्डर पर दोनों देशों के सैनिक 100 मीटर पर आमने-सामने
- इंडियन आर्मी के जवानों ने चीनी सैनिकों के अड़ियल रवैये को देखते हुए सिक्किम के डोकलाम इलाके में 9 जुलाई से अपने तंबू गाड़ रखे हैं। बॉर्डर पर दोनों देशों की 60-70 सैनिकों की टुकड़ी 100 मीटर की दूरी पर आमने-सामने डटी हैं। दोनों ओर की सेनाएं भी यहां से 10-15 km की दूरी पर तैनात हैं।

भारत का क्या है तर्क?
- नई दिल्ली ने चीन को बताया है कि चीन के सड़क बनाने से इलाके की मौजूदा स्थिति में अहम बदलाव आएगा, भारत की सिक्युरिटी के लिए ये गंभीर चिंता का विषय है। रोड लिंक से चीन को भारत पर एक बड़ी मिलिट्री एडवान्टेज हासिल होगी। इससे नॉर्थइस्टर्न स्टेट्स को भारत से जोड़ने वाला कॉरिडोर चीन की जद में आ जाएगा।
- इस एरिया का भारत में नाम डोका ला है जबकि भूटान में इसे डोकलाम कहा जाता है। चीन दावा करता है कि ये उसके डोंगलांग रीजन का हिस्सा है। भारत-चीन का जम्मू-कश्मीर से लेकर अरुणाचल प्रदेश तक 3488 km लंबा बॉर्डर है। इसका 220 km हिस्सा सिक्किम में आता है।

Source:-Jagran
View more about our services:-SSl Certificate service provider company